Hindi Diwas: All You Need To Know

Share
Hindi Diwas: All You Need To Know
Hindi Diwas Picture Credit: Jagran

NOTE | This article was written in Hindi to celebrate Hindi as a language. Below is English translation of the article.

हिंदी दिवस भारत की राष्ट्रभाषा बनने का जश्न मनाता है। अनुच्छेद 120 (भाग-5), 210 (भाग-6), 343, 344 और 348 से 351 केंद्र सरकार की राजभाषा नीति की रूपरेखा तैयार करते हैं।

अंग्रेजी, स्पेनिश और मंदारिन के बाद हिंदी चौथे स्थान पर है। अधिकांश उत्तर भारत हिंदी को अपनी मूल भाषा के रूप में बोलते हैं।1953 में पहला हिंदी दिवस मनाया गया था।

हिंदी 14 सितंबर, 1949 को भारत की आधिकारिक भाषा बन गई। हिंदी को 26 जनवरी, 1950 को भारत के संविधान में शामिल किया गया था। तब से 14 सितंबर को हिंदी दिवस के रूप में मनाया जाता है।

हिंदी दिवस पर, भारत के राष्ट्रपति उन सभी को राजभाषा पुरस्कार प्रदान करते हैं जिन्होंने हिंदी भाषा में महत्वपूर्ण योगदान दिया है।

ब्योहर राजेंद्र सिम्हा, हजारी प्रसाद द्विवेदी, काका कालेलकर, मैथिली शरण गुप्त और सेठ गोविंद दास ने हिंदी को भारत की राष्ट्रभाषा बनाने पर जोर दिया। ब्योहर राजेंद्र सिम्हा ने भारत के पहले संविधान का वर्णन किया। 14 सितंबर को ब्योहर राजेंद्र सिंह का जन्मदिन है।

हिंदी देवनागरी में लिखी गई है। अनुच्छेद 343 ने हिंदी को भारत की राष्ट्रभाषा बना दिया। हिंदी अन्य इंडो-आर्यन भाषाओं की तरह वैदिक संस्कृत की वंशज है।

बिहार 1881 में उर्दू की जगह हिंदी को अपनाने वाला पहला भारतीय राज्य बन गया।

हिनुदस्तान के अनुसार महात्मा गांधी ने हिंदी को जनता की भाषा कहा था। वह चाहते थे कि हिंदी राष्ट्रभाषा बने। सन् 1918 में आयोजित हिन्दी साहित्य सम्मेलन में उन्होंने हिन्दी को राष्ट्रभाषा बनाने की मांग की। आजादी मिलने के बाद लंबे विचार-विमर्श के बाद आखिरकार 14 सितंबर 1949 को संविधान सभा में हिंदी को राजभाषा बनाने का निर्णय लिया गया। हिंदी को राष्ट्रभाषा बनाने के विचार से बहुत से लोग खुश नहीं थे।कई लोगों ने कहा कि अगर सबको हिंदी बोलनी है तो आजादी का मतलब क्या होगा। ऐसे में हिंदी राष्ट्रभाषा नहीं बन सकी।

Hindi Diwas celebrates Hindi becoming India’s national language. Articles 120 (Part-5), 210 (Part-6), 343, 344, and 348 to 351 outline the Union Government’s official language policy.

Hindi ranks fourth after English, Spanish, and Mandarin. Most of North India speaks Hindi as their native language.

In 1953 the first Hindi Diwas was observed. Hindi became India’s official language on September 14, 1949. Hindi was included in India’s constitution on Jan. 26, 1950. Since then, September 14 is celebrated as Hindi Diwas.

On Hindi Diwas, the President of India presents Rajbhasha awards to all those who significantly have contributed to the Hindi language.

Beohar Rajendra Simha, Hazari Prasad Dwivedi, Kaka Kalelkar, Maithili Sharan Gupt, and Seth Govind Das pushed to make Hindi India’s national language. Beohar Rajendra Simha illustrated the first Constitution of India.  Beohar Rajendra Singh’s birthday is September 14.

Hindi is written in Devanagari. Article 343 made Hindi India’s national language. Hindi is a descendant of Vedic Sanskrit, like other Indo-Aryan languages. Bihar became the first Indian state to adopt Hindi in 1881, replacing Urdu.

read more: HINDI DIWAS: FIVE FACTS ABOUT HINDI

According to the Hinudstan, Mahatma Gandhi had called Hindi the language of the masses. He wanted Hindi to become the national language. In the Hindi Sahitya Sammelan held in 1918, he asked for Hindi to be made the national language. After getting independence, after long deliberations, it was finally decided in the Constituent Assembly on 14 September 1949 to make Hindi the official language. Many people were not happy with the idea of ​​making Hindi the national language.

Many said that if everyone has to speak Hindi, then what will be the meaning of freedom. In such a situation, Hindi could not become the national language.




About Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Best Netflix Movies Ever PM Modi’s Diwali Location Since 2014 10 Unknown Facts About Diwali This Celeb Was Born On Diwali
Best Netflix Movies Ever PM Modi’s Diwali Location Since 2014 10 Unknown Facts About Diwali This Celeb Was Born On Diwali